प्रयागराज में पंचायत चुनाव की तैयारिया पूरी गड़बड़ी फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस ने बनाया प्लान।

Share this news

संगम नगरी में 15 अप्रैल को पंचायत चुनाव है. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य से लेकर ग्राम पंचायत सदस्यों के भाग्य का फैसला गुरुवार को मतदाता तय कर देंगे. प्रयागराज में 84 जिला पंचायत सदस्य, 1540 ग्राम प्रधान और 2086 बीडीसी सदस्यों के साथ ही ग्राम पंचायत सदस्य के 19820 सीटें हैं. इसमें से 8 प्रधान, 49 बीडीसी मेंबर और 8416 ग्राम पंचायत सदस्य निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं. ऐसे में बची हुई सीटों पर जिला प्रशासन की तरफ से मतदान करवाया जा रहा है. वहीं ग्राम पंचायत सदस्य की हजारों सीट पर कोई आवेदन नहीं मिलने की वजह से उन रिक्त सीटों पर जून में चुनाव करवाया जा सकता है.

पंचायत चुनाव: जिले में 33 लाख से अधिक वोटर्स करेंगे प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला

उत्तर प्रदेश में गुरुवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के प्रथम चरण का मतदान होना है. इसी कड़ी में प्रयागराज में भी पहले चरण में ही मतदान होगा, इसके लिए सारी तैयारियां पूरी हो गयी हैं. ब्लॉक स्तर से पोलिंग पार्टियों को भी पोलिंग स्टेशन के लिए रवाना कर दिया गया है. जिले भर में 33 लाख 68 हजार 85 मतदाता हैं, जो त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे.

प्रयागराज : संगम नगरी में 15 अप्रैल को पंचायत चुनाव है. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य से लेकर ग्राम पंचायत सदस्यों के भाग्य का फैसला गुरुवार को मतदाता तय कर देंगे. प्रयागराज में 84 जिला पंचायत सदस्य, 1540 ग्राम प्रधान और 2086 बीडीसी सदस्यों के साथ ही ग्राम पंचायत सदस्य के 19820 सीटें हैं. इसमें से 8 प्रधान, 49 बीडीसी मेंबर और 8416 ग्राम पंचायत सदस्य निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं. ऐसे में बची हुई सीटों पर जिला प्रशासन की तरफ से मतदान करवाया जा रहा है. वहीं ग्राम पंचायत सदस्य की हजारों सीट पर कोई आवेदन नहीं मिलने की वजह से उन रिक्त सीटों पर जून में चुनाव करवाया जा सकता है.

30 हजार से अधिक कर्मचारी करवाएंगे पंचायत चुनाव

प्रयागराज में 23 ब्लॉकों में पंचायत चुनाव होना है. मतदान करवाने के लिए 5269 पोलिंग पार्टियां बनायी गयीं हैं. मतदान के लिए अलग-अलग विभागों के 21076 कमर्चारियों की ड्यूटी लगायी गयी है. पोलिंग पार्टियों को रवानगी के समय चुनाव से जुड़े सामानों के साथ ही सेनिटाइजर व मास्क भी दिया गया है.

23 ब्लॉकों में गुरुवार को मतदान करके ग्रामीण मतदाता अपने गांव की संसद का चुनाव करेंगे. गुरुवार 15 अप्रैल को प्रथम चरण के मतदान में बहादुरपुर, श्रृंगवेरपुर, प्रतापपुर, हंडिया, बहरिया, मऊआइमा, भगवतपुर, सैदाबाद ,धनुपुर, फूलपुर, कौड़िहार, होलागढ़, सहसों, सोरांव, उरुवा, करछना, कौंधियारा, मेजा, कोरांव, मांडा, चाका, जसरा व शंकरगढ़ ब्लॉक में मतदाता वोट डालें जायेगे

अलग-अलग रंग के हैं बैलेट पेपर

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अलग-अलग रंग के बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जा रहा है. इसमें जिला पंचायत सदस्य के लिए गुलाबी बैलेट पेपर का इस्तेमाल किया जाएगा जबकि बीडीसी मेम्बर के लिए नीला व प्रधान का बैलेट पेपर हरे रंग का होगा. साथ ही ग्राम पंचायत सदस्य के लिए सफेद रंग का बैलेट पेपर रहेगे

जातीय समीकरण की बात करें तो जिला के पंचायत चुनाव में मतदाताओं का जातीय प्रतिशत कुछ इस प्रकार है. इसमें दलित 22% , मुस्लिम 12% , ब्राह्मण 10% , वैश्य 7% , पटेल 17% , यादव 9% , ठाकुर 7% , ओबीसी 11% , अन्य 5% हैं. पंचायत चुनावों में जातीय फैक्टर व बड़े मुद्दे ज्यादा प्रभावी नहीं होते हैं, लेकिन उसके बावजूद प्रत्याशी जातीय गुणा गणित के आधार पर वोट मांगने से नहीं चूकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
Qtv India

FREE
VIEW