मई के अंत तक भारत में 1.4 करोड़ का आंकड़ा पार कर सकता है कोरोना, रिसर्च में दावा

Share this news

कोरोना वायरस की दूसरी लहर हर दिन नया रिकॉर्ड बना रही है. तेजी से बढ़ते संक्रमण के बीच बेंगलुरु स्थि‍त इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IISC) के एक अनुमान में कहा गया है कि अगर कोरोना का मौजूदा ट्रेंड जारी रहता है तो मई के अंत तक को‍रोना केसों की संख्या 1.4 करोड़ को पार कर सकती है और इस समय एक्टि‍व केस लोड करीब 3.2 लाख होगा. शोधकर्ताओं का कहना है कि अप्रैल के मध्य का वक्त संक्रमण का पीक हो सकता है जब एक्टि‍व केस 7.3 लाख तक जा सकते हैं. इस रिसर्च के मुताबिक, बदतर हालात में मई के अंत तक एक्टि‍व केस की संख्या 20 लाख तक पहुंच सकती है. हालांकि, अगर लोगों को वैक्सीन लग जाए और कोरोना नियमों का पालन हो तो इसे रोका जा सकता है.

IISC के प्रोफेसर शशि‍कुमार और दीपक का ये अनुमान कोरोना के मौजूदा ट्रेंड पर आधारित है. अनुमान के मुताबिक, अकेले कर्नाटक में अप्रैल के अंत तक केसों की संख्या 10.7 लाख तक पहुंच सकती है.

कोरोना की दूसरी लहर काफी तेजी से बढ़ रही है और हर दिन पिछले दिन के मुकाबले करीब 9 हजार ज्यादा केस दर्ज किए जा रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, शनिवार को 24 घंटे के अंदर देश में 89,129 नए केस दर्ज किए गए और 714 मौतें हुईं. देश में अब तक कुल 1 करोड़, 23 लाख से ज्यादा केस दर्ज हो चुके हैं और अब तक कुल 1,64,110 मौतें हो चुकी हैं. शनिवार तक देश में 6,58,909 केस एक्टि‍व हैं.

देश में 3 अप्रैल की शाम तक कोरोना वैक्सीन की कुल 7.44 करोड़ डोज लगाई जा चुकी है. शनिवार को दिनभर में कुल 13 लाख लोगों को वैक्सीन दी गई.

शनिवार को हुई कुल 714 मौतों में से 85.85% सिर्फ 5 राज्यों में हुईं. ये 5 राज्य महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश हैं. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 481 मौतें हुई हैं. पंजाब में 57, छत्तीसगढ़ में 43, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में 16-16 मौतें हुईं. देश के 77.3% एक्टिव केस सिर्फ 5 राज्यों- महाराष्ट्र, कर्नाटक, छ्त्तीसगढ़, केरल और पंजाब से हैं. इसमें महाराष्ट्र का शेयर सबसे ज्यादा 59.36% है. दूसरी ओर, जितने नए केस आए हैं उसका 81% सिर्फ 8 राज्यों से हैं. सबसे ज्यादा प्रभावित ये आठ राज्य महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, दिल्ली, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, पंजाब और मध्य प्रदेश हैं.

महाराष्ट्र में हालात भयावह, करीब 50 हजार नए केस

कोरोना वायरस ने महाराष्ट्र में सबसे घातक रूप अख्ति‍यार किया हुआ है. शनिवार को 24 घंटें में यहां 49,447 नए केस आए और 277 मौतें हुईं. देश में कुल केस का आधे से ज्यादा सिर्फ महाराष्ट्र से है. राज्य में फिलहाल 21 लाख से ज्यादा लोग होम कोरंटाइन में हैं. राज्य में एक्टि‍व केसों की संख्या 4 लाख से ऊपर पहुंच गई है.

मुंबई में शनिवार को रिकॉर्ड 9,090 नए केस आए और 27 मौतें हुईं. राजधानी मुंबई में शनिवार तक 62,187 केस एक्टिव हैं. शहर में 681 भवनों को सील किया गया है. नागपुर में बीते 24 घंटे में 47 लोगों की कोरोना से मौत हुई और 3,720 नए केस दर्ज किए गए. नागपुर में फिलहाल 40,820 कोरोना केस एक्टि‍व हैं. पुणे में 3 अप्रैल को 5,720 केस आए और 44 मौतें हुईं. 837 मरीजों की हालत गंभीर है. जिले में अब तक कुल 2,83,819 केस दर्ज हुए हैं और कुल 5411 मौतें हुई हैं. फिलहाल 39,518 एक्टि‍व केस हैं. हालात को देखते हुए पुणे में 7 दिनों का मिनी लॉकडाउन लगा दिया गया है.

दिल्ली लगातार दूसरे तीन साढ़े तीन हजार से ज्यादा केस

राजधानी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन साढ़े 3 हजार से ज्यादा कोरोना केस दर्ज किए गए. शनिवार को यहां 24 घंटे में 3,567 नए केस आए और 10 लोगों की मौत हुई. राजधानी में अब तक कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 11,060 पहुंच गई है. फिलहाल पूरी दिल्ली में कुल 12,647 केस एक्टि‍व हैं.  16 दिसंबर 2020 के बाद से एक्टि‍व केसों की ये सबसे बड़ी संख्या है. 16 दिसंबर को दिल्ली में 13,261 एक्टि‍व केस थे. दिल्ली में अब तक कोरोना के कुल केस का आंकड़ा 6,72,381 है, जिनमें से 6,48,674 लोग ठीक हो चुके हैं. शनिवार तक दिल्ली में 2618 कंटेन्मेंट जोन हैं.

एक सवाल के जवाब में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि ऐसा ट्रेंड देखने में आ रहा है कि अपर और अपर-मिडिल क्लास में ज्यादा केस आ रहे हैं. इसका कारण बता पाना मुश्किल है लेकिन अभी ये समझ आ रहा है कि जितने भी घनी आबादी वाले या स्लम वाले इलाके हैं, उनमें पहले और दूसरे फेज़ में ही काफी ज्यादा कोरोना फैल चुका था. उन्होंने कहा कि वायरस के व्यवहार से समझ में आ रहा है कि इसकी बढ़ने की संख्या काफी ज्यादा है. अब एक परिवार में एक या दो सदस्य नहीं बल्कि पूरा परिवार संक्रमित मिल रहा है. लेकिन अब जो केस आ रहे हैं वे पहले से कम गंभीर हैं और मौतें भी कम हो रही हैं. पूरे देश में यह ट्रेंड देखने को मिल रहा है.

दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफन कॉलेज में 13 छात्र और स्टाफ मेंबर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. अगले आदेश तक के लिए कॉलेज को बंद कर दिया गया है. सूत्रों ने बताया कि कुछ छात्रों का एक ग्रुप एजुकेशनल ट्रिप के लिए डलहौजी गया था. लौटने के बाद उनमें से कुछ पॉजिटिव पाए गए हैं.

मास्क न लगाने पर 5 लाख से ज्यादा का कटा चालान

राजधानी दिल्ली में बढ़ते संक्रमण के बीच लोग खूब लापरवाही भी बरत रहे हैं. शनिवार को राजधानी में 1730 लोगों का चालान काटा गया. मास्क न लगाने पर अब तक कुल 5,38,303 चालान काटे जा चुके हैं. वहीं इधर-उधर थूकने के लिए भी कुल 3,438 चालान काटे जा चुके हैं. वहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने के लिए अब तक कुल 38,653 चालान काटे गए हैं.

गुजरात में 2640 केस, डॉक्टर्स बोले- ये लहर ज्यादा खतरनाक

गुजरात के गृहमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं. वहीं राज्य में आज 2640 नए केस दर्ज हुए और 11 मौतें हुईं. अहमदाबाद में सबसे ज्यादा 621 केस आए. सूरत में 506 और वडोदरा में 506 केस दर्ज हुए. राज्य में शनिवार तक कुल 13,559 केस एक्टि‍व हैं.

सूरत म्युनिसिपल कॉरपोरेशन ने एक नोट में कहा है कि कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पहले से ज्यादा खतरनाक है, क्योंकि ये ज्यादा तेजी से फैल रहा है. इसमें कोई लक्षण नहीं दिखते लेकिन लोग पॉजिटिव होते हैं.  

गुजरात में कोरोना की दूसरी लहर में इस समय हर रोज औसतन 2500 से ज्यादा नए केस दर्ज हो रहे हैं. एक्सपर्ट्स की मानें तो ये लहर ज्यादा खतरनाक है. अगर कोरोना इसी तरह फैलता रहा तो लॉकडाउन ही आखि‍री उपाय है. डॉक्टरों के मुताबिक, राज्य में कोरोना के तीन नए स्ट्रेन की पुष्टि हुई है- यूके, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील स्ट्रेन. इस लहर में युवाओं के साथ बच्चे भी प्रभावित हो रहे हैं.

मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी टूटे रिकॉर्ड

मध्य प्रदेश में शनिवार को रिकॉर्ड 2,839 नए केस दर्ज हुए और 15 लोगों की मौत हुई. प्रदेश में पॉजिटिविटी रेट 10.4% हो चुका है. इसके अलावा कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या भी बढ़कर 20,369 तक पहुंच गई है. इंदौर अब भी 708 नए केस के साथ सबसे ज्यादा प्रभावित जिला है. भोपाल में शनिवार को 502 केस सामने आए हैं.

वहीं राजस्थान में पूरे राज्य में 1675 केस आए. यह एक दिन में इस साल का अब तक तक सबसे बड़ा आंकड़ा है. जयपुर में भी 367 केस दर्ज हुए जो इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है. जयपुर में तीन मौतें भी हुईं. इस साल पहली बार राज्य में कोरोना के एक्टिव मरीज़ों की संख्या 10 हजार के पार पहुंची है. शनिवार शाम तक राजस्थान में एक्टिव मरीज़ों की संख्या 11,738 हो गई है.

ओडिशा में 5 अप्रैल से नाइट कर्फ्यू

ओडिशा सरकार ने भी 5 अप्रैल से 10 जिलों नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है. राज्य के सुंदरगढ़, झारसुगुड़ा, संबलपुर, बरगढ़, बोलंगीर, नुआपाड़ा, कालाहांडी, नवरंगपुर, कोरापुट और मलकानगिरी में रात 10 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू होगा. इस दौरान सभी कमर्शि‍यल संस्थान, दफ्तर और सभी तरह के संस्थान बंद रहेंगे. लोगों के भी आने-जाने पर पाबंदी होगी. ये नियम अगले आदेश तक लागू रहेंगे. इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी. जिला प्रशासन को अपने स्तर पर धारा 144 लागू करने का भी अधि‍कार दिया गया है. इसका फैसला स्थानीय प्रशासन करेगा.  

हरिद्वार में कुंभ स्नान के लिए पहुंचे 7 साधु कोरोना पॉजिटिव

हरिद्वार में आयोजित कुंभ के बीच उत्तराखंड में कोरोना पांव पसार रहा है. 3 अप्रैल को राज्य में 439 नए केस आए और 4 मौतें हुईं. कुल केस संख्या 1,01,714 हो चुकी है जिनमें से 2,638 केस फिलहाल एक्टि‍व हैं और अब तक कुल 1,725 मौतें हो चुकी हैं. शनिवार को हरिद्वार में 85, देहरादून में 228, नैनीताल में 45 और उत्तरकाशी में 17 नए केस आए.

वहीं हरिद्वार में कुंभ में हिस्सा लेने आए 7 साधु कोरोना पॉजिटिव पाए गए. शंकराचार्य चौक के निकट मौजूद श्रीकृष्ण आश्रम में सभी साधु रह रहे थे. इन्हें आश्रम में ही आइसोलेट किया गया है. कुंभ मेला अधिकारी स्वास्थ्य डॉ एएस सेंगर ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि तीन दिनों में हरिद्वार में करीब 300 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं. कुंभ में साधुओं के संक्रमित पाए जाने से हड़कंप मचा हुआ है. ये सभी साधु कहां से आए हैं, अभी इसकी पुष्टि‍ नहीं हो पाई है. प्रशासन उनके बारे में और ज्यादा जानकारी जुटा रहा है.

पटना में 662 केस, 60 स्कूली बच्चे भी संक्रमित

बिहार में शनिवार सुबह तक 24 घंटे में कोरोना के 662 केस दर्ज हुए. सबसे ज्यादा 287 मरीज पटना में पाए गए हैं. कुल एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 2,363 हो गई है. इससे पहले 24 नवंबर 2020 को राज्य में सबसे ज्यादा 668 केस मिले थे.

राजधानी पटना में 60 स्कूली बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि स्कूलों को बंद करने का आदेश कभी भी जारी हो सकता है. पटना में हर रोज औसतन 300 लोग संक्रमित हो रहे हैं. पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने शनिवार को आपात बैठक बुलाई और डीएम ने कई निर्देश भी दिए हैं. कोरोना को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई, जिसमें उन्होंने निर्देश दिया कि सार्वजनिक आयोजनों पर कुछ दिनों के लिए रोक लगा दी जाए. उन्होंन क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप को निर्देश दिया है कि हालात के मद्देनजर स्कूलों को बंद करने के बारे में फैसला लिया जाए. रविवार को बिहार में स्कूल बंद करने का फैसला आ सकता है. नीतीश ने जांच का दायरा बढ़ाने और नियमों का पालन करने में सख्ती बरतने का निर्देश दिया है.

उत्तर प्रदेश में 3290 नए केस, लखनऊ में आंकड़ा हजार के पार

उत्तर प्रदेश में शनिवार को 3290 नए केस दर्ज हुए. सिर्फ राजधानी लखनऊ में ही 1041 केस आए. यूपी के चंदौली में 40 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें से 7 महिलाएं और 33 पुरुष हैं. चंदौली में कोरोना से अब तक 68 लोगों की मौत हो चुकी है.

यूपी के वाराणसी में संक्रमण तेजी से फैल रहा है. शनिवार को 162 नए मरीज आए. शुक्रवार को यहां रिकॉर्ड 223 कसे आए थे. वाराणसी में सक्रिय मामले 985 तक पहुंच गए हैं. इसे देखते हुए प्रशासन ने भी सख्ती शुरू कर दी है. वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने हिदायत भी दे दी है कि अगर लोग नियमों का पालन नहीं करते तो सख्ती बरती जाएगी.

कर्नाटक, तमिलनाडु और तेलंगाना का हाल

कर्नाटक में आज 24 घंटे में 4373 नए कस दर्ज हुए 19 मौतें हुईं. इनमें से 3002 केस सिर्फ राजधानी बेंगलुरु में पाए गए हैं. राज्य में केस पॉजिटिविटी रेट 3.53% है. वहीं तमिलनाडु में कुल 3,446 नए केस आए और 14 मौतें दर्ज हुईं. तमिलनाडु में कुल केस का आंकड़ा 8,96,226 और कुल मौतों का आंकड़ा 12,764 पहुंच गया है. राज्य में शनिवार शाम तक कुल 20,204 केस एक्टि‍व हैं. चेन्नई में शनिवार को 1,290 केस आए.

तेलंगाना में भी कोरोना केसों में उछाल दर्ज किया गया है. शनिवार को राज्य में 1078 नए केस दर्ज हुए और 6 मौतें हुईं. तेलंगाना में फिलहाल 6,900 केस एक्टि‍व हैं. साइबर सिटी गुरुग्राम में भी शनिवार को अब तक के सबसे ज्यादा 606 केस दर्ज हुए.

(भाषा इनपुट से )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
Qtv India

FREE
VIEW