अपनी ही सरकार में पीड़ित बने बीजेपी नेता मनोज पासी।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अपराधियो पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस अफसरों को खास निर्देश दिए है पुलिस के बड़े अफसर इसके लिए लगातार प्रयासरत भी है लेकिन नीचे के स्तर पर लोकल पुलिस की कार्यशैली पर लगातार सवाल उठ रहे है ताज़ा मामला झूसी के बीजेपी नेता मनोज पासी का है दरसअल इनके पिता हीरा लाल की एक ज़ामीन मे हिस्सेदारी है लेकिन बिना बटवारे के कुछ लोगो ने दूसरे के नाम पर एग्रीमेंट कर दिया दूसरे पक्ष ने उसी विवादित ज़ामीन पर पिलर बना कर निर्माण भी शुरू करा दिया जबकि SDM फूल पुर का साफ निर्देश था कि उस ज़ामीन पर यथा इस्थिति बनी रहे पीड़ित ने झूसी पुलिस को लिखित शिकायत दी तो पुलिस मौके पर तो गई लेकिन कार्यवाही करने से बचती रही।

बीजेपी नेता को है जान का खतरा लगाई इंसाफ की गुहार

हीरा लाल के बेटे मनोज बीजेपी से जिला पंचायत सदस्य रह चुके है इस वक्त भी हो गंगा पार इलाके में बीजेपी में सक्रिय भूमिका में है बीजेपी नेता पुलिस की कार्यवाही से काफी निराश है उनका कहना है की इस मामले में विपक्ष के लोग लगातार धमकियां भी दे रहे है और पिछले साल उन्होंने इसी मामले में 4 लोगो के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया था लेकिन तब भी कार्यवाही नही हुई और अब भी वही इस्थिती बनी हुई है जिससे उनको जान का भी खतरा बना हुआ है।

पिता की ज़ामीन अपनी ही सरकार में कब्ज़ा हो गई।

बीजेपी नेता मनोज पासी की एप्लिकेशन पर जब पुलिस ने ऐक्शन नही लिया तो उन्होंने गंगा पार के बीजेपी के प्रभारी विभव नाथ भारतीय से SDM फूल पुर को चिट्ठी भेज कर कार्यवाही की अपील की। जिस पर SDM ने कोर्ट में केस चलने तक ज़ामीन पर किसी भी तरह का निर्माण न करने का आदेश दिया लेकिन उसके बावजूद भी खम्बो का निर्माण हो गया कार्यवाही के नाम पर पुलिस अब आज कल करके मामले को टाल रही है।

क्या कहते है पुलिस अफसर।

बीजेपी नेता मनोज पासी की थाने में सुनवाई न करने और एक्शन न लेने पर जब पुलिस के बड़े अफसरों से बात की गई तो उनका कहना है ज़ामीन का मामला राजस्व विभाग से जुड़ा होता है उसमे पुलिस की सीधी कोई भूमिका नही है अगर कब्जे की बात सामने आती है मामले का संज्ञान लेकर कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!