ऑक्सीजन संकट: भारत को सऊदी अरब से होगी 80 टन ऑक्सीजन की सप्लाई

Share this news

कोरोना वायरस के ख़तरनाक संक्रमण से जूझ रहे भारत के लिए सऊदी अरब 80 टन लिक्विड ऑक्सीजन भेजने जा रहा है.

राजधानी रियाद में भारतीय दूतावास ने एक ट्वीट के जरिए बताया है कि अडानी समूह और लिंडे कंपनी मिलकर इस ऑक्सीजन की ढुलाई करेगी.

दूतावास ने ट्वीट में लिखा, “भारतीय दूतावास को अति आवश्यक 80 टन लिक्विड ऑक्सीजन भेजने में अडानी समूह और लिंडे के साथ साझेदारी करने पर गर्व है. हमें इस काम में सहयोग और समर्थन के लिए हम सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय का हार्दिक धन्यवाद करते हैं.”

अडानी समूह के मुखिया गौतम अडानी ने भी इस बारे में एक ट्वीट किया और लिखा, “रियाद के दूतावास को धन्यवाद! काम हमेशा शब्दों से अधिक मज़बूत होते हैं. हम पूरी दुनिया से ऑक्सीजन की जल्दी आपूर्ति बहाल करने के मिशन में जुटे हैं. 80 टन लिक्विड ऑक्सीजन के साथ चार आईएसओ क्रायोजेनिक टैंकों की यह पहली खेप दम्मम से मुंद्रा जाने के रास्ते में है.”

भारत अभी कोरोना की दूसरी लहर के कहर से जूझ रहा है. पिछले चार दिनों से देश में रोज़ तीन लाख से अधिक संक्रमित सामने आ रहे हैं.

देश में सक्रिय मरीज़ों की संख्या 25 लाख को भी पार कर गई है. जबकि पिछले एक साल में मरने वालों की संख्या 1.92 लाख से अधिक हो गई है.

अभी हर रोज़ 2,700 से ज्यादा लोग मर रहे हैं. गंभीर रूप से संक्रमित लोगों को बचाने के लिए ऑक्सीजन की ज़रूरत होती है.

लेकिन क्षमता से अधिक रोगियों के आने से अस्पतालों में इसकी कमी हो गई है. इस समस्या से निपटने के लिए केंद्र सरकार कई देशों से ऑक्सीजन मंगा रही है.

(भाषा इनपुट से)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!