ऑस्ट्रिया के ‘इस्लामी नक्शे’ पर गहराया विवाद, तुर्की ने भी जताया कड़ा ऐतराज

Share this news

यूरोप के देश ऑस्ट्रिया में ‘इस्लामी नक्शा’ जारी किए जाने से मुस्लिम समुदाय में नाराजगी है. ऑस्ट्रिया के एक मुस्लिम ग्रुप ने ऑस्ट्रिया सरकार के मुखिया चांसलर सेबेस्टियन क्रूज पर विवादित नक्शे का अनावरण किए जाने के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करने का इरादा जताया है. ‘मुस्लिम यूथ ऑस्ट्रिया’ नाम के ग्रुप ने ‘राजनीतिक इस्लामी नक्शा’ जारी करने के लिए सरकार की आलोचना की है. इस नक्शे में देश की मस्जिदों और मुस्लिम एसोसिएशन्स की जगहों को चिह्नित किया गया है. ग्रुप ने शनिवार को एक बयान में कहा, “मुस्लिम संस्थाओं के सारे नाम, गतिविधियों और पतों का खुलासा किया गया है.

आपको बता दें कि ऑस्ट्रिया में इंटीग्रेशन मंत्री सुसैन राब ने गुरुवार को ‘नेशनल मैप ऑफ इस्लाम’ के नाम से एक वेबसाइट लॉन्च की. इसमें 620 से अधिक नाम और पते दिए गए हैं, जिनमें मस्जिदें, एसोसिएशन्स और उनके अधिकारी शामिल हैं. इनमें उनके बाहरी देशों में संभावित संपर्क भी शामिल हैं.

ऑस्ट्रियाई मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक नक्शे से चांसलर कुर्ज की कंजरवेटिव ऑस्ट्रियन पीपुल्स पार्टी और इसकी सहयोगी ग्रीन पार्टी के बीच तनाव बढ़ गया है.

ऑस्ट्रियन पार्टी की प्रवक्ता फाएका अल नगाशी ने ट्विटर पर जर्मन भाषा में लिखी पोस्ट में साफ किया है कि उनकी पार्टी का कोई भी सदस्य नक्शे की प्रक्रिया से नहीं जुड़ा है और न ही पार्टी को इस बारे में अग्रिम तौर पर कुछ बताया गया.

नगाशी ने कहा कि इंटीग्रेशन पॉलिसी या संवाद जिस तरह होना चाहिए ये कदम उसके उलट है. ‘द ग्रुप इस्लामिक रिलीजियस कम्युनिटी’ (IGGOE) ने चेतावनी दी है कि ऑस्ट्रिया में रहने वाले मुस्लिमों को इस तरह अलग तरीके से चिह्नित करना “देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था और समाज के लिए संभावित खतरा है.”

IGGOE के मुताबिक इस तरह का कदम नस्लवाद को बढ़ावा देता है और साथ ही मुस्लिम नागरिकों के लिए बड़ा सुरक्षा खतरा पेश करता है. वहीं, इंटीग्रेशन मंत्री सुसैन राब ने सफाई दी है कि नक्शे का मकसद ‘मुस्लिमों को संदेह के दायरे में रखना’ नहीं है. राब के मुताबिक इस कदम का उद्देश्य राजनीतिक विचारधाराओं से लड़ना है न कि धर्म से.

इस बीच तुर्की के विदेश मंत्रालय ने ट्वीटर पर एक बयान जारी कर कहा है कि ऑस्ट्रिया की ऐसी नीतियों से, जो विदेशी लोगों को नापसंद करने वाली हैं, नस्लवाद को बढ़ावा देने वाली हैं और इस्लाम विरोधी है, उनसे समाजिक एकजुटता और भागीदारी प्रदूषित होगी.

जर्मनी के इवेंजेलिकल लुथरन बिशप माइकल चालुप्का ने ऑस्ट्रिया के इस कदम पर चिंता जताई है और ऑस्ट्रिया की इंटीग्रेशन मंत्री सुसैन राब से संबंधित वेबसाइट को वापस लेने की मांग की है.

(भाषा इनपुट से)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
Qtv India

FREE
VIEW