कुंभ नगरी हरिद्वार के निरंजनी अखाड़े में कोरोना का तांडव, अब तक महामंडलेश्वर समेत 10 संतों की गई जान

Share this news

कोरोना का कहर दशनामी संन्यासियों के निरंजनी अखाड़े पर लगातार टूट रहा है. कोरोना संक्रमित निरंजनी अखाड़े के एक महामंडलेश्वर और दो श्री महंतों सहित अब तक कुंभ नगरी में दस संतों के निधन ने संत समाज को भी झकझोर दिया है. निरंजनी अखाड़े के संत अजय गिरी (55) का ऋषिकेश एम्स में इलाज चल रहा था. वहीं पर उन्होंने दम तोड़ा. दूसरे संत सोमनाथ (50) हरिद्वार के दूधाधारी बर्फानी हॉस्पिटल में भर्ती थे, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली.
दोनों संन्यासियों के निधन के बाद निरंजनी अखाड़े में शोक की लहर है. बता दें कि इससे पहले निरंजनी अखाड़े के चार संतों का कोरोना के कारण निधन हो चुका है. शुक्रवार को निरंजनी अखाड़े के 50 संतों का कोरोना सैंपल लिया गया है. अभी तक निरंजनी अखाड़े के महंत मनीष भारती, राकेश पुरी, प्रेमलता गिरी का निधन हो चुका है.

उधर, हरिद्वार जनपद में एक दिन में कोरोना से सबसे ज्यादा 15 मौत हुई हैं. 5 लोगों ने मेला अस्पताल में अंतिम सांस ली जबकि जिला जेल में भी एक कैदी की मौत हुई है. भूमानंद अस्पताल और विनय विशाल हॉस्पिटल में तीन-तीन लोगों ने जान गंवाई. जय मैक्सवेल अस्पताल में दो और बाबा बर्फानी अस्पताल में एक संक्रमित जिंदगी की जंग हार गए हैं.

जिले में 896 नए कोविड-19 के संक्रमित मिले. मेला अस्पताल में तीन कर्मचारी, शिवालिक नगर में सबसे ज्यादा 60 लोग, भेल में 29 ,रामनगर रुड़की में 14, सिडकुल की दीप गंगा अपार्टमेंट में 13, ज्वालापुर में 10 और सिडकुल की दो अंतरराष्ट्रीय कंपनियों में 5-5 लोग संक्रमित मिले हैं, सीएमओ एसके झा ने बताया कि जिले में इस समय 4128 एक्टिव केस हैं जबकि 100 लोग आज स्वस्थ हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!