जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में BJP की निर्विरोध जीत, सपा जिलाध्यक्षों पर अखिलेश का एक्शन

Share this news

उत्तर प्रदेश के जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनावों में मिली हार के बाद समाजवादी पार्टी ने अपने 11 जिलाध्यक्षों को बर्खास्त कर दिया है. चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद जिलाध्यक्ष पदमुक्त कर दिए गए हैं. पार्टी नाराज है कि कैसे चुनाव में सपा से चुने गए जिला पंचायत सदस्यों की ज्यादा होने के बाद भी जिला अध्यक्ष के चुनाव में हार मिली. ये वही जिले हैं, जहां बीजेपी निर्विरोध जीती है.

शीर्ष नेतृत्व पार्टी के खराब प्रदर्शन से नाराज था. हटाए गए जिलाध्यक्षों में गोरखपुर और भदोही के अध्यक्ष भी शामिल हैं. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गोरखपुर, मुरादाबाद, झांसी, आगरा, गौतमबुद्ध नगर, मऊ, बलरामपुर, श्रावस्ती, भदोही, गोंडा और ललितपुर के जिलाध्यक्षों को तत्काल प्रभाव से पद से हटा दिया है. हटाने का आधिकारिक आदेश भी सपा ने जारी कर दिया है.

गौरतलब है कि कई जगहों पर भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) के प्रत्याशी निर्विरोध भी जीत गए हैं. कारण यह है कि सपा को प्रस्तावक तक नहीं मिले. उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में समाजवादी पार्टी से जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए प्रत्याशी वंदना यादव को एक प्रस्तावक भी नहीं मिला, जिसकी वजह से वे नामांकन नहीं कर सकीं. जिला पंचायत अध्यक्ष की रेस से उन्हें बाहर हो जाना पड़ा. वंदना यादव इससे पहले जिला पंचायत अध्यक्ष थीं.

13 जिलों में बीजेपी की निर्विरोध जीत

जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर 13 जिलों में बीजेपी को निर्विरोध जीत मिली है. आगरा से मंजू भदौरिया, गाजियाबाद से ममता त्यागी, मुरादाबाद से डॉक्टर शेफाली और बुलंदशहर से डॉक्टर अंतुल तेवतिया को जीत मिली है. ललितपुर से बीजेपी प्रत्याशी कैलाश निरंजन, मऊ से मनोज राय, चित्रकूट से अशोक जाटव, गौतमबुद्ध नगर से अमित चौधरी, श्रावस्ती से दद्दन मिश्र, गोरखपुर से साधना सिंह को जीत मिली है. बलरामपुर से आरती तिवारी, झांसी से पवन कुमार गौतम और गोंडा से घनश्याम मिश्र ने चुनाव में बाजी मार ली है.

बांदा में बीजेपी का जिलाध्यक्ष बनना तय

बांदा जिले में बीजेपी जिलाध्यक्ष का बनना तय है. सपा और बसपा प्रत्याशियों के पर्चे प्रशासन ने खारिज कर दिए हैं. एडीएम(प्रशासन) ने पुष्टि भी की है. जिला प्रशासन की ओर से आधिकारिक तौर पर प्रेस नोट भी जारी होने वाला है.

अब बीजेपी के प्रत्याशी सुनील पटेल का निर्विरोध जीतना तय माना जा रहा है. समाजवादी पार्टी की ओर से रजनी यादव और बसपा के अरुण पटेल का पर्चा ही प्रशासन ने खारिज कर दिया था. आज जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की अंतिम तिथि थी.

बागपत में आरएलडी को झटका

पंचायत जिलाध्यक्ष पद के चुनावों में बीजेपी बाजी मारती दिख रही है. दूसरी पार्टियों के खाते में भले ही सीटें ज्यादा हों, लेकिन अध्यक्ष पद बीजेपी के पास जाता दिख रहा है. बागपत में राष्ट्रीय लोकदल पार्टी ने जिसे जिलाध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार बनाया था, वही पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गया. आरएलडी ने ममता किशोर को अपना प्रत्याशी बनाया था, उन्होंने अपने पति जय किशोर के साथ बीजेपी का दामन थाम लिया.

जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर 13 जिलों में बीजेपी को निर्विरोध जीत मिली है. आगरा से मंजू भदौरिया, गाजियाबाद से ममता त्यागी, मुरादाबाद से डॉक्टर शेफाली और बुलंदशहर से डॉक्टर अंतुल तेवतिया को जीत मिली है. ललितपुर से बीजेपी प्रत्याशी कैलाश निरंजन, मऊ से मनोज राय, चित्रकूट से अशोक जाटव, गौतमबुद्ध नगर से अमित चौधरी, श्रावस्ती से दद्दन मिश्र, गोरखपुर से साधना सिंह को जीत मिली है. बलरामपुर से आरती तिवारी, झांसी से पवन कुमार गौतम और गोंडा से घनश्याम मिश्र ने चुनाव में बाजी मार ली है.

बांदा में बीजेपी का जिलाध्यक्ष बनना तय

बांदा जिले में बीजेपी जिलाध्यक्ष का बनना तय है. सपा और बसपा प्रत्याशियों के पर्चे प्रशासन ने खारिज कर दिए हैं. एडीएम(प्रशासन) ने पुष्टि भी की है. जिला प्रशासन की ओर से आधिकारिक तौर पर प्रेस नोट भी जारी होने वाला है.

अब बीजेपी के प्रत्याशी सुनील पटेल का निर्विरोध जीतना तय माना जा रहा है. समाजवादी पार्टी की ओर से रजनी यादव और बसपा के अरुण पटेल का पर्चा ही प्रशासन ने खारिज कर दिया था. आज जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की अंतिम तिथि थी. 

बागपत में आरएलडी को झटका

पंचायत जिलाध्यक्ष पद के चुनावों में बीजेपी बाजी मारती दिख रही है. दूसरी पार्टियों के खाते में भले ही सीटें ज्यादा हों, लेकिन अध्यक्ष पद बीजेपी के पास जाता दिख रहा है. बागपत में राष्ट्रीय लोकदल पार्टी ने जिसे जिलाध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवार बनाया था, वही पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गया.  आरएलडी ने ममता किशोर को अपना प्रत्याशी बनाया था, उन्होंने अपने पति जय किशोर के साथ बीजेपी का दामन थाम लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!