प्रदेश में सबसे ज्यादा पुलिस का उत्पीडन कुरेशी समाज को झेलना पड़ रहा है अरशद अली।

Share this news


आज अल्पसंख्यक कांग्रेस कमेटी इलाहाबाद ने शहर कांग्रेस कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में महानगर अध्यक्ष अरशद अली ने मिडिया बंधुओं को संबोधित करते हुए कहा।
पूरे प्रदेश में 2012 में NGT की गाइडलाइन का हवाला देते हुए हाई कोर्ट के आदेशों पर बूचड़खाने बंद करा दिए गय थे परंतु आपका ध्यान आकर्षित करना चाहूंगा हाई कोर्ट का आदेश पुराने बूचड़खाने को बंद करके मॉडर्न बूचड़खाने बनाकर देने का था परंतु बंद तो उस वक्त ही करा दिए थे परंतु आज तक मॉडर्न बूचड़खाने बनाने हेतु अभी तक जमीन तक नहीं दे पाए हैं जिस कारण हमारा समाज पुलिस उत्पीड़न का शिकार होता चला आ रहा है हमारी मांग है जल्द से जल्द पूरे प्रदेश में जहां जहां भी बूचड़खाने बंद किए गय थे तत्काल तुरंत खुलवाए जाए जब तक मॉडर्न बूचड़खाने की व्यवस्था न हो जाय।


वही पूर्व प्रवक्ता जावेद उर्फी ने बोला
.पशु बाज़ार से पशुओं की खरीद फरोख्त करने के लिए अगर कोई पशु बेचने के लिए जाता है या कुर्बानी के लिए पशुओं को खरीदकर घर ले जाता है तो पुलिस उसका उत्पीड़न वा दोहन करती है मेरी मेरे समाज की और से प्रार्थना है आज से अगले 13 दिनों के लिए पुलिस को निर्देशित किया जाय किसी को भी पशुओं के साथ आने जाने या कहीं भी ले जाने की पूरी छूट हो (प्रतिबंधित पशुओं को छोड़कर ) किसी तरह से भी उनको चेक नहीं किया जाय।


वही शहर कोषा अध्यक्ष अनूप सिंह ने कहा ईद उल अजहा के तेवार करीब आ रहा है नगर निगम को अल्पांख्यका बहुल इलाकों में साफ सफाई व्यवस्था युद्ध स्तर पर करना चाहिए।
इस मौके पर। नूरुल कुरेशी, तालिब अहमद, हाजी सरताज, मुस्तकीन कुरेशी कमाल अली, अरमान कुरेशी, गुलाम वारिस, जाहिद नेता, मो जावेद आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!