मुक्त विश्वविद्यालय की पाठ्य सामग्री होगी डिजिटल- कुलपति

Share this news

उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज एवं कामनवेल्थ एजुकेशनल मीडिया सेंटर फॉर एशिया (सेमका) के साथ विभिन्न मुद्दों पर सहयोग हेतु बुधवार को ऑनलाइन बैठक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सेमका, नईदिल्ली की निदेशक प्रोफेसर मधु परहार ने सहयोग के विभिन्न बिंदुओं पर प्रस्तुतीकरण किया।


जिसमें विश्वविद्यालयों के शिक्षकों के लिए कैपेसिटी बिल्डिंग, वर्कशॉप का आयोजन, ओईआर पॉलिसी में आवश्यक सुधार हेतु विश्वविद्यालय का सहयोग तथा विभिन्न कार्यक्रमों में आईसीटी का प्रयोग आदि पर चर्चा की गई।


उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर सीमा सिंह ने विश्वविद्यालय की विभिन्न प्रकाशित अध्ययन सामग्री को डिजिटल फॉर्म में रूपांतरित किए जाने तथा विश्वविद्यालय में स्थित ऑडियो विजुअल लैब को अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित किए जाने हेतु सेमका से परामर्श की अपेक्षा की।

विश्वविद्यालय के सीका के निदेशक प्रोफेसर ओम जी गुप्ता ने कुलाधिपति श्रीमती आनंदीबेन पटेल की अपेक्षा अनुसार अशिक्षितों के लिए नान क्रेडिट कोर्सेज (प्रशिक्षण आधारित कोर्स) को बनाए जाने के लिए सेमका से सहयोग की अपेक्षा की। सीका के उप निदेशक प्रोफेसर आशुतोष गुप्ता ने शिक्षकों के लिए सेमका द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन सहित ओ ई आर के विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की।


कामनवेल्थ एजुकेशनल मीडिया सेंटर फॉर एशिया ने एशिया के विभिन्न देशों में भारत सहित बांग्लादेश, ब्रूनेई, मलेशिया, पाकिस्तान, सिंगापुर में स्थित विशेषतया मुक्त विश्वविद्यालयों से एमओयू किया है। इसी कड़ी में उ.प्र. राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय के साथ एमओयू करने के लिए आज इस बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में सेमका के वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी श्री मानस रंजन पाणिग्रही, प्रोफेसर ओम जी गुप्ता, प्रोफेसर आशुतोष गुप्ता, प्रोफेसर पी पी दुबे, प्रोफेसर पी के पांडे, प्रोफेसर सत्यपाल तिवारी एवं प्रोफेसर एस. कुमार आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
Qtv India

FREE
VIEW