मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बुलाई अर्जेंट मीटिंग, हालात नहीं सुधरे तो लग सकता है लॉकडाउन

Share this news

दिल्ली में नाइट कर्फ्यू पहले से ही लागू है. लेकिन केजरीवाल सरकार के नए ऐलान के बाद अब वीकेंड कर्फ्यू भी लागू हो चुका है. शुक्रवार रात 10 से लागू हुआ ये कर्फ्यू सोमवार सुबह 6 बजे तक जारी रहने वाला है. आज पहले वीकेंड कर्फ्यू का पहला दिन है. वीकेंड कर्फ्यू आने वाले दिनों में भी इसी तरह ही जारी रहेगा जब तक कि कोई नया आदेश नहीं आ जाता है.

इधर कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक आज रिव्यू मीटिंग बुलाई है. इस मीटिंग में कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए नोडल मंत्री मनीष सिसोदिया, हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन और अन्य महत्वपूर्ण अधिकारी शामिल होने वाले हैं. मिली सूचना के मुताबिक़ केजरीवाल दोपहर के 2 बजे जिलाधिकारियों के साथ और करीब 3 बजे MCD कमिश्नरों के साथ वीडियो मीटिंग करेंगे.

ऐसी भी संभावनाएं जताई जा रही हैं कि अगर वीकेंड कर्फ्यू से भी कोरोना मामले नहीं घटते हैं तो दिल्ली में जल्द ही संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है. इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दो बातें प्रमुख तौर पर कहीं हैं एक ये कि लॉकडाउन समाधान नहीं है, दूसरी ये कि अगर मामले रुकते नहीं हैं तो लॉकडाउन पर विचार किया जा सकता है. जिस तरह दिल्ली में अचानक से इतनी तेजी से मामले बढ़ रहे हैं उस हिसाब से लग रहा है कि दिल्ली सरकार को दूसरे ऑप्शन पर सोचने में अधिक समय नहीं लगेगा.

आज दिल्ली में लगे वीकेंड कर्फ्यू पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है ”करोना के चलते आज और कल दिल्ली में कर्फ़्यू है. कृपया इसका पालन करें. हम सबको मिलके करोना को हराना है.

राजधानी दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 19,486 नए मामले सामने आए हैं. वहीं 141 लोगों की मौत कोरोना के कारण हो गई. बेकाबू हो चुके कोरोना वायरस ने सरकार की नींद उड़ा रखी है तो वहीं नागरिकों में भी इसका भयंकर डर बना हुआ है. वीकेंड लॉकडाउन से पहले ही दिल्ली पुलिस के जवान सड़कों पर मुस्तैद नजर आए और दस बजते ही पुलिस एक्शन में आ गयी और सड़कों पर सन्नाटा छा गया.

वीकेंड कर्फ्यू एकदम सभी चीजों पर प्रतिबंध नहीं लगाता, आवश्यक वस्तुओं, सेवाओं के आवागमन के लिए वीकेंड कर्फ्यू में भी छूट दी गई है लेकिन इस दौरान दिल्ली में मॉल, जिम, स्पा, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल, एंटरटेनमेंट पार्क और अन्य ऐसी जगहें जो कोरोना महामारी जैसी स्थिति में बहुत जरूरी नहीं हैं वे पूरी तरह से बंद रहेंगी. वहीं थियेटरों को 30 फीसदी क्षमता के साथ चलने की अनुमति दी गई है. दूसरी तरफ रेस्टोरेंट में बैठकर खाने पर रोक लगाई है हालांकि होम डिलीवरी पर किसी भी तरह का प्रतिबंध नहीं है. खास बात ये है कि इस दौरान बस, ऑटो, टैक्सी, मेट्रो आदि सार्वजनिक वाहनों पर रोक नहीं लगाई गई है. लेकिन इनमें उन्हें ही जाने की अनुमति रहेगी जिन्हें नाईट कर्फ्यू के दौरान छूट मिली हुई है.

(भाषा इनपुट से)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!