श्मशान घाट पर शवों की लंबी कतारें, एक साथ जल रही हैं दर्जनों चिताएं,वाराणसी में मंजर भयावह

Share this news

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भयावह मंजर देखने को मिल रहा है. हर तरफ सिर्फ कोरोना का कहर नजर आ रहा है. हर घर में लोग इस से जूझते नजर आ रहे हैं. कई लोगों की सांसे इस से लड़ते लड़ते थम जा रही हैं. एक ही घर में दो-दो, तीन-तीन लोगों की मौत हो जा रही है, किसी को कुछ नहीं समझ में आ रहा है कि आखिर क्या होगा वाराणसी के हरिश्चंद्र घाट का मंजर इस विभीषिका को बताता है घाट पर  सुबह से शवों की लंबी कतार लगी हुई है. दर्जनों चिताएं एक साथ जलाई जा रही हैं, तो दर्जनों लाशें अपनी बारी का इंतजार कर रही हैं.

हरिश्चंद्र घाट पर शव जलाने के 2 तरीके हैं, एक तो बिजली से और दूसरा लकड़ी से. लेकिन इन दोनों स्थानों पर लाशों की लंबी लाइन लगी हुई है. एक शव जलाने के लिए कम से कम 7 से 8 घंटे इंतजार करना पड़ रहा है. स्थिति इस कदर भयावह होती जा रही है कि  कोरोना की डेड बॉडी को उनके परिजन जलाने का ठेका देकर घर चले जा रहे हैं. श्मशान घाट पर लाश जलाने के लिए लकड़िया भी कम पड़ने लगी है.

वाराणसी के मणिकर्णिका घाट का भी यही हाल है. वहां भी शवों की लंबी कतार लगी है लोग अपनी बारी के इंतजार में बैठे हैं यह हाल तब है जब कोविड पेशेंट हरिश्चंद्र घाट पर जा रहे हैं. बावजूद इसके बहुत लोग इधर भी आ जा रहे हैं. 
बता दें, गुरुवार को उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान 22439 नए लोगों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई जोकि अब तक एक दिन में सामने आए सर्वाधिक मामले हैं. वहीं, इस घातक वायरस से 104 मरीजों की मौत हो गई. पिछले 24 घंटों के दौरान सबसे ज्यादा 26 मरीजों की मौत राजधानी लखनऊ में हुई है. इसके अलावा, कानपुर नगर में 10 तथा प्रयागराज और वाराणसी में छह-छह मरीजों की मौत हुई है.

(भाषा इनपुट से)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
Qtv India

FREE
VIEW