हफ्तेभर में 30% गिरा देश का व्यापार : कैट

Share this news

दशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इसे लेकर कई राज्यों ने आंशिक लॉकडाउन, कोरोना कर्फ्यू और अन्य प्रतिबंध लगाए हैं. इस वजह से हफ्तेभर में देश के भीतर व्यापार 30% गिरा है, जबकि बाजार में ग्राहकी भी कम हो रही है.

कोरोना कर्फ्यू से माल ढुलाई भी हुई कम

कन्फेडेरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के मुताबिक कोरोना के बढ़ते मामलों ने ग्राहकों के मन में डर पैदा किया है. ऐसे में विभिन्न राज्यों में लगाए गए कोरोना प्रतिबंधों से पिछले एक सप्ताह में देश के विभिन्न राज्यों के रिटेल व्यापार में 30% की कमी आई है. जबकि रात में लगाए जा रहे कोरोना कर्फ्यू के चलते एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने वाले माल की ढुलाई भी कम हुई है. इससे थोक व्यापार में भी 15-20% की गिरावट आई है.

बाजारों में 50% गिरा ग्राहकों का फुटफाल

बात सिर्फ माल की ढुलाई कम होने तक ही सीमित नहीं है. देश के अनेक राज्यों में कई प्रकार के प्रतिबंध लगने तथा कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने के कारण बाजारों में ग्राहकों का आना-जाना लगभग 50 प्रतिशत कम हो गया है.

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि कैट ने महाराष्ट्र, पंजाब, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखण्ड, दिल्ली, गुजरात, राजस्थान , मध्य प्रदेश सहित अन्य राज्यों के व्यापारियों से बातचीत के आधार पर यह आंकड़े जुटाए हैं. लोगों ने अब घर से बाहर निकलना काफी हद तक कम कर दिया है जिसका असर रिटेल बाजारों पर साफ दिख रहा है.

दिन-रात दोनों समय नहीं जा पा रहा माल

खंडेलवाल ने कहा कि देश के लगभग सारे शहरों में दिन में मालवाहक वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबन्ध है जो अमूमन रात्रि 9 बजे खुलता है लेकिन तब तक अधिकांश राज्यों में कोरोना कर्फ्यू लग जाता है इसलिए थोक माल की आवाजाही में भी कमी आयी है.

देश में महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक और छत्तीसगढ़ में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. इसके चलते महाराष्ट्र में 5 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू और लॉकडाउन लगाया गया. बाद में दिल्ली में 6 अप्रैल से कोरोना कर्फ्यू जारी है. गुजरात, पंजाब, कर्नाटक और छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन जैसी स्थितियां बनी हुई हैं. देश में 9 अप्रैल को कोरोना के 1,45,384 पॉज़िटिव मामले दर्ज किए गए.

व्यापारियों का सरकार को समर्थन
कैट के राष्ट्रीय मंत्री सुमित अग्रवाल ने कहा कि कैट ने देश में कोविड की दूसरी लहर की शुरुआत के समय ही कहा था कि वह सरकार के कोरोना कर्फ्यू अथवा लॉक डाउन जैसी पहलों का समर्थन करेगा.

(भाषा इनपुट से)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!