ज़हरीली शराब कांड DM SSP ने किया प्रभावित इलाके का दौरा, चौकी इंचार्ज सैदाबाद समेत तीन सिपाही सस्पेंड

Share this news

प्रयागराज जिले के हंड़िया थाना क्षेत्र के तीन गांवों में जहरीली शराब कांड मामले में मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है । पिछले चार दिनों में जहरीली शराब पीने से अब तक 11 लोगों की मौत होने से हड़कंप मचा है। जिसके बाद जहरीली शराब के बजाय बीमारी से हो रही मौतों की राग अलाप रहे जिला प्रशासन को भी बैकफुट पर आना पड़ा है। डीएम और एसएसपी खुद प्रभावित गांवों का दौरा कर रहे हैं‌। आज इस मामले में एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने चौकी इंचार्ज सैदाबाद समेत तीन सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है

आईजी प्रयागराज के पी सिंह के मुताबिक जहरीली शराब कांड में मुख्य आरोपी को हंड़िया थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। और 5 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। दरअसल ग्रामीणों ने गांव में सरकारी ठेके के बाहर से शराब खरीदकर पी थी। जिसके बाद एक-एक करके 11 लोगों की मौत हो गई है। जहरीली शराब पीने से चार मृतकों का पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया है और जांच के लिए बिसरा सुरक्षित कर लिया गया है। जबकि अन्य मृत लोगों का उनके परिजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया है। आईजी के पी सिंह का कहना है कि पुलिस इस पूरे मामले में अवैध शराब के नेटवर्क को खंगालने में जुट गई है।

पुलिस इलाके में अवैध शराब की बिक्री को होली के त्यौहार और पंचायत चुनाव से जोड़कर भी देख रही है। पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही कि यह शराब कहां से लाई जाती थी और किस तरह से यह लोगों तक पहुंचाई जा रही थी। शराब में मिलावट को लेकर भी आबकारी विभाग और क्राइम ब्रांच की टीम पता लगा रही हैं।
आई जी के मुताबिक अवैध शराब के नेटवर्क में शामिल लोगों के खिलाफ गैंगस्टर की धाराओं में सख्त कार्रवाई की जाएगी।

डीएम और एसएसपी खुद प्रभावित गांवों का दौरा कर रहे हैं‌। आज इस मामले में एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने चौकी इंचार्ज सैदाबाद समेत तीन सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है

आईजी प्रयागराज के पी सिंह के मुताबिक जहरीली शराब कांड में मुख्य आरोपी को हंड़िया थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। और 5 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। दरअसल ग्रामीणों ने गांव में सरकारी ठेके के बाहर से शराब खरीदकर पी थी। जिसके बाद एक-एक करके 11 लोगों की मौत हो गई है। जहरीली शराब पीने से चार मृतकों का पुलिस ने पोस्टमार्टम कराया है और जांच के लिए बिसरा सुरक्षित कर लिया गया है। जबकि अन्य मृत लोगों का उनके परिजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया है। आईजी के पी सिंह का कहना है कि पुलिस इस पूरे मामले में अवैध शराब के नेटवर्क को खंगालने में जुट गई है।

पुलिस इलाके में अवैध शराब की बिक्री को होली के त्यौहार और पंचायत चुनाव से जोड़कर भी देख रही है। पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही कि यह शराब कहां से लाई जाती थी और किस तरह से यह लोगों तक पहुंचाई जा रही थी। शराब में मिलावट को लेकर भी आबकारी विभाग और क्राइम ब्रांच की टीम पता लगा रही हैं।
आई जी के मुताबिक अवैध शराब के नेटवर्क में शामिल लोगों के खिलाफ गैंगस्टर की धाराओं में सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!