पुष्कर सिंह धामी बने उत्तराखंड के नए CM, सतपाल महाराज, हरक सिंह रावत बने मंत्री

उत्तराखंड के 45 साल के पुष्कर सिंह धामी ने आज मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली. वे राज्य के 11 मुख्यमंत्री बन गए हैं. उन्होंने राजभवन में शपथ ली है. धामी के अलावा, सतपाल महराज, हरक सिंह रावत ने भी शपथ ली है. बंशीधर, यशपाल आर्य, बिशन सिंह को भी राज्यपाल ने मंत्री पद की शपथ दिलवाई है. वहीं, सुबोध उनियाल ने भी मंत्री पद की शपथ ली.

राज्यपाल ने अरविंद पांडेय, गणेश जोशी को भी मंत्री पद की शपथ दिलवाई है. इसके अलावा, रेखा आर्य, डॉ. धन सिंह रावत ने भी मंत्री बनाए गए हैं.

धामी के नाम का ऐलान शनिवार को देहरादून में हुई बीजेपी के विधायक दलों की बैठक में किया गया था. हालांकि, उनके मुख्यमंत्री बनाए जाने की वजह से कई बीजेपी नेताओं में नाराजगी की भी बातें सामने आई थीं. सूत्रों के हवाले से कहा गया था कि आज सुबह से ही इस मामले पर बंद कमरे में बैठकें की जा रही थीं. ऐसी चर्चा थी कि पार्टी का एक खेमा पुष्कर सिंह धामी को सीएम बनाए जाने से नाराज है. हालांकि, बीजेपी विधायकों ने इस बात को नकार दिया था.

राजभवन में चल रहे शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी के कई दिग्गज नेता मौजूद हैं. सतपाल महाराज, धन सिंह रावत, बिशन सिंह चुफल, मदन कौशिक, गणेश जोशी, अरविंद पांडे, सुबोध उनियाल, रेखा आर्या, बंशीधर भगत शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए राजभवन पहुंचे थे. पुष्कर सिंह धामी से पहले तीरथ सिंह रावत को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया गया था, लेकिन संवैधानिक संकट के चलते उन्होंने चार महीने के भीतर ही इस्तीफा दे दिया. उन्हें छह महीनों के भीतर विधानसभा पहुंचना जरूरी था.

कई घंटों तक प्रदेश अध्यक्ष के घर चलीं बैठकें

पुष्कर सिंह धामी के शपथ-ग्रहण से पहले देहरादून में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के घर पर बैठकों का दौर काफी देर तक चलता रहा. जानकारी के मुताबिक, सुबह करीब 11 बजे से लगातार मीटिंग चल रही थी. विधायकों का आना-जाना लगा रहा. वहीं, दूसरी तरफ पुष्कर सिंह धामी ने वरिष्ठ नेता सतपाल महाराज से भी मुलाकात की. बताया जा रहा है कि सबसे ज्यादा नाराज नेताओं में सतपाल महाराज का ही नाम था, लिहाजा शपथ ग्रहण से पहले पुष्कर सिंह धामी ने उनसे जाकर मुलाकात की.

इससे पहले सुबह ऐसी खबरें भी आई थीं कि 35 विधायक दिल्ली पहुंच गए हैं. हालांकि, बीजेपी विधायकों ने इसे अफवाह बताया है. बीजेपी विधायक बनसिधर भगत का कहना है कि “मैंने 35 विधायकों के दिल्ली पहुंचने के बारे में कहीं पढ़ा है. प्लीज मुझे बताएं कि वो कौन विधायक हैं? ये सब अफवाह हैं. हमारे नेता पार्टी के साथ मजबूती से खड़े हुए हैं.

धामी ने पूर्व मुख्यमंत्रियों से की मुलाकात

रविवार सुबह से एक ओर बीजेपी विधायकों की मीटिंग चल रही है तो दूसरी ओर पुष्कर सिंह धामी पूर्व मुख्यमंत्रियों से मिलने उनके घर पहुंचे. धामी ने सुबह-सुबह पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात की. साथ ही उन्होंने बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम मेजर जनरल भुवन चंद खडूरी से भी उनके घर जाकर मुलाकात की. इन तीनों के अलावा धामी ने राज्य के मंत्री सतपाल महाराज से भी उनके घर पर मुलाकात की.

कांग्रेस बोली- बीजेपी की गुटबंदी सामने आई

वहीं, सीएम बदलने पर कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधा है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और विधायक प्रीतम सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने उत्तराखंड के अंदर राजनीतिक अस्थिरता फैलाने का काम किया है और लोगों के घाव पर मरहम की जगह नमक छिड़क दिया है.

उन्होंने आगे कहा कि हम स्वीकार करते हैं कि 5 साल पहले 2016 में इसी तरीके से घटनाक्रम हमारी पार्टी में हुआ था जब हमारे बहुत सारे साथी हमें छोड़कर अलग हुए थे. बीजेपी ने जिस तरह से उन साथियों के नेतृत्व को आहत किया है उससे आज वह तमाम साथी आहत हैं. इसीलिए नए मुख्यमंत्री के बनने पर भाजपा में गुटबंदी सामने आ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!