लखीमपुर की घटना पर कैंडल मार्च लेकर निकले कांग्रेसी

Share this news

लखीमपुर की घटना पर कैंडल मार्च लेकर निकले कांग्रेसीप्रयागराज: लखीमपुर खीरी जिले के निघासन तहसील के गाँव में दो दलित नाबालिक बहनों की दुष्कर्म के बाद हुई हत्या के विरोध में जिला शहर कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने देर शाम धरना स्थल पर प्रदर्शन कर कैंडल मार्च निकाला। आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने के साथ ही योगी सरकार से इस्तीफे की भी मांग की गई। गुरुवार को सिविल लाइन्स स्थित पत्थर गिरजा चौराहे से सुभाष चौराहे तक कांग्रेसियों ने कैंडल मार्च निकाला। कांग्रेसियों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यमुनापार जिलाध्यक्ष अरुण तिवारी और गंगापार जिलाध्यक्ष सुरेश यादव ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर हमला बोला। कहा कि कानून व्यवस्था और महिला सुरक्षा के मामले में सरकार के दावों की पोल खुली है। शहर अध्यक्ष प्रदीप मिश्रा और प्रदेश महासचिव मुकुंद तिवारी ने आरोप लगाते हुए कहा की यूपी पुलिस सरकार के नियंत्रण में है, इसलिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस घटना पर इस्तीफा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वारदात में शामिल आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की।

कैंडल मार्च निकालने वालों में, अरुण तिवारी, सुरेश यादव, प्रदीप मिश्रा, मुकुंद तिवारी, विवेकानंद पाठक, संजय तिवारी, हसीब अहमद, मनोज पासी, किशोर वार्ष्णेय, विवेक पाण्डेय, दिवाकर भारतीय, राम मनोरथ सरोज, राकेश पटेल, रईस अहमद, दिनेश सोनी, शादाब अहमद, विशाल सोनकर, निशांत रस्तोगी एहतेशाम अहमद, शुभम शुक्ला, सौरभ चौधरी, राकेश पाठक, अब्दुल सलाम, कामेश्वर सोनकर, विनय पाण्डेय, मो०हसीन, नफीस कुरैशी, मधु चकाहा, रचना पाण्डेय, दरख़्षा कुरैशी, शीला रावत, इशरत अली।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!