पैगंबर पर विवादित टिप्पणी: ‘मैं अपने शब्द वापस लेती हूं’ BJP से सस्पेंड होने के बाद बोलीं नूपुर शर्मा

Share this news

पैगंबर मोहम्मद पर विवादित बयान देने के मामले में भारतीय जनता पार्टी से निलंबित की गई प्रवक्ता नूपुर शर्मा का बयान आया है. उन्होंने अपनी टिप्णणी को लेकर माफी मांगी है. साथ ही कहा है कि मैं अपने शब्द वापस लेती हूं. उन्होंने कहा कि मेरी मंशा किसी को ठेस पहुंचाने की नहीं थी, अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है तो मैं अपने शब्द वापस लेती हूं.

नूपुर शर्मा ने कहा कि रोजाना मेरे आराध्य शिवजी का अपमान किया जा रहा था. मैं शिवजी के अपमान को बर्दाश्त नहीं कर पाई. मैंने रोष में आकर कुछ चीजें कह दीं.

वहीं कार्रवाई के तुरंत बाद नूपुर शर्मा ने अपील करते हुए कहा था कि उनके घर का पता सार्वजनिक न किया जाए.इससे उनके परिवार की सुरक्षा को खतरा है.

नूपुर शर्मा पर कार्रवाई से पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में पार्टी ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी को ऐसा कोई भी विचार स्वीकृत नहीं है जो किसी भी धर्म-संप्रदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाए. भाजपा ना ऐसे किसी विचार को मानती है और न ही प्रोत्साहन देती है.

कार्रवाई के बाद नूपुर शर्मा ने किया ट्वीट

पार्टी से निलंबन की कार्रवाई के बाद नूपुर शर्मा ने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘मैं पिछले कई दिनों से टीवी डिबेट पर जा रही थी, जहां रोजाना मेरे आराध्य शिव जी का अपमान किया जा रहा था. मेरे सामने यह कहा जा रहा था कि वो शिवलिंग नहीं फुव्वारा है. दिल्ली के हर फुटपाथ पर बहुत शिवलिंग पाए जाते हैं, जाओ जाकर पूजा कर लो. मेरे सामने बार-बार इस प्रकार से हमारे महादेव शिवजी के अपमान को मैं बर्दाश्त नहीं कर पाई. मैंने रोष में आकर कुछ चीजें कह दीं. अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची हो तो मैं अपने शब्द वापस लेती हूं. मेरी मंशा किसी को भी कष्ट पहुंचाने की कभी नहीं थी’.

ये था विवाद

एक टीवी न्यूज चैनल पर बहस के दौरान बीजेपी प्रवक्ता नुपुर शर्मा ने कथित तौर पर पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी कर दी थी, जिसको लेकर अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भड़के हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!