अतीक़ के गुर्गों के चंगुल से छूट कर खुद थाने पहुँचा ज़ाकिर,कछार में छुप कर बचाई जान।

Share this news

असरौली की रहने वाली नसरीन ने मंगलवार की रात रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनके पति जाकिर अहमद बेटी के ससुराल गए थे। वापस लौटते समय अतीक के गुर्गों असलम, अकरम और नूर आलम समेत चार लोगों ने हटवा के पास से उसका अपहरण कर लिया।

पुलिस इस मामले की जांच में जुटी थी। बुधवार को जाकिर खुद थाने पहुंचा। उसने बताया कि हटवा में उसका अपहरण करने के बाद अतीक के गुर्गे उसे कछार की ओर ले गए। वहां उसे एक पुराने मुकदमे को वापस लेने के लिए कहते रहे।


पूरामुफ्ती के असरौली का रहने वाला जाकिर मंगलवार की रात ही अतीक के गुर्गों के चंगुल से छूट गया था। वह डर के मारे रात भर कछार में छिपा रहा। बुधवार को वह थाने पहुंचा। बताया कि जब उसका अपहरण किया गया तो शोरगुल सुनकर ग्रामीण आ गए थे।

इसी आपाधापी में वह भाग निकला था। उसने बताया कि एक पुराना मुकदमा वापस लेने के लिए उसका अपहरण किया गया था। 

: असरौली की रहने वाली नसरीन ने मंगलवार की रात रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनके पति जाकिर अहमद बेटी के ससुराल गए थे। वापस लौटते समय अतीक के गुर्गों असलम, अकरम और नूर आलम समेत चार लोगों ने हटवा के पास से उसका अपहरण कर लिया। पुलिस इस मामले की जांच में जुटी थी। बुधवार को जाकिर खुद थाने पहुंचा। उसने बताया कि हटवा में उसका अपहरण करने के बाद अतीक के गुर्गे उसे कछार की ओर ले गए। वहां उसे एक पुराने मुकदमे को वापस लेने के लिए कहते रहे। धमकी दी कि मुकदमा वापस न लिया तो उसे जान से मार दिया जाएगा। शोरगुल के बीच कई ग्रामीण वहां आ गए।

इसी आपाधापी में जाकिर अंधेरे का फायदा उठाकर कछार में भाग निकला। अतीक के गुर्गे देर रात तक उसे खोजते रहे। सुबह होने पर उसने किसी तरह घर वालों को सूचना दी और थाने पहुंचा। इंस्पेक्टर पूरामुफ्ती आशुतोष तिवारी ने बताया कि नामजद चारों आरोपियों के खिलाफ दबिश दी जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
Qtv India

FREE
VIEW