कोरोनाः ‘बच्चे गंभीर रूप से बीमार हुए, तो हमारे अस्पताल संभाल नहीं पाएंगे’, स्कूल खोलने पर बोले डॉ. त्रेहान

Share this news

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर अब काफी कमजोर पड़ चुकी है. इस बीच कई राज्यों में अब दोबारा स्कूल खोलने पर विचार चल रहा है. लेकिन, स्कूल खोलने को लेकर मेदांता अस्पताल के चेयरमैन डॉ. नरेश त्रेहान ने चेताते हुए कहा है कि महामारी के दौर में स्कूल को दोबारा खोलना सही नहीं होगा.

डॉ. त्रेहान ने कहा, मेडिकल तैयारियों के हिसाब से भी हम देखें तो हम अभी गंभीर रूप से बीमार पड़ने वाले बच्चों को संभालने के लिए तैयार नहीं हैं.

उन्होंने अभी स्कूल नहीं खोलने की बात कही है. उन्होंने कहा, स्कूल खोलने में अभी थोड़ा और इंतजार किया जा सकता है. हमें सावधान रहना होगा. अस्पताल छोटे बच्चों का लोड उठाने के लिए तैयार नहीं हैं. इम्युनिटी को लेकर जब उनसे सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘हमें नहीं पता कि बच्चे सीरोपॉजिटिव हुए हैं या फिर डेल्टा-अल्फा या कहीं और से इम्युनिटी आई है.

डॉ. नरेश त्रेहान ने कहा, हमें अमेरिका से सीखना चाहिए. स्कूल खुलने के बाद वहां अस्पताल में भर्ती होने वाले बच्चों की संख्या बढ़ गई है. हमें देखना चाहिए कि डेल्टा वहां क्या कर रहा है. उन्होंने आगे कहा कि मुझे स्कूल दोबारा खोलने पर आपत्ति है. मैं उम्मीद करता हूं कि मैं गलत साबित हो जाउं.

बच्चों की वैक्सीन पर क्या बोले डॉ. त्रेहान?

बच्चों की वैक्सीन को लेकर जब सवाल किया गया तो डॉ. त्रेहान ने उम्मीद जताई कि जल्द ही हमारे पास टीका होगा. उन्होंने कहा, अगले कुछ महीनों में हमारे स्टाफ और टीचर्स को वैक्सीनेट कर दिया जाएगा. उन्होंने अपनी बात दोहराते हुए कहा, ‘स्कूलों को अभी थोड़ा और इंतजार करना ही बेहतर होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!