बड़े भु माफियाओ पर योगी सरकार का हंटर पर छोटे भु माफियाओ की कारस्तानी जारी।

Share this news

यूपी की योगी सरकार ने माफ़िया और भु माफियाओ के खिलाफ अभियान चला कर उनका पूरा सेंडिगेट तोड़ दिया है लेकिन उसके बाद भी गली कूचे में ज़ामीन कब्जे की कोशिस की तमाम खबरे आ रही है ताज़ा मामला करेला बाग का है जहां पर ऐजाज नामक शख्स अपना गैराज चालाते है पिछले दिनों देर रात भु माफियाओ ने उनकी बाउंड्री जेसीबी से गिरा कर कब्ज़ा करने की कोशिस की

अपनी ज़ामीन बड़ी करने के लिए दूसरी की ज़मीन पर नज़र

पिछले 15 सालों से एजाज करेला में बाग में गैराज चला रहे है उनके बगल में जो ज़ामीन है उसी में उनकी भी ज़ामीन भु माफ़िया मिलाना चाहते है जबकि गैराज वाली पूरी ज़ामीन एजाज की माँ के नाम पर है और कुछ दिनों पहले SDM और लेखपाल ने ज़ामीन की पैमाईश करा कर रिपोर्ट उनके पक्ष में दी थी तभी से भु माफ़िया लगातार उनको परेशान कर रहे है।

आधी रात को जेसीबी से तोड़ा बाउंड्री घटना सीसी टी वी में हुई कैद

3 दिनों पहले आधी रात को आधा दर्जन लोग जेसीबी लेकर करेला बाग पहुँचे और एजाज की ज़ामीन की बाउंड्री को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गैराज के बाहर सीसी टी वी लगा है जिसमे पूरी घटना रिकार्ड हो गई सीसी टी वी में साफ दिख रहा की कुछ लोग जेसीबी लेकर आते है और बाउंड्री गिराने लगते है सभी के चेहरे पर मास्क लगा था जिसकी वजह से इन लोगो की पहचान नही हुई हालांकि जेसीबी के साथ जो कार थी उसको एजाज पहचानते है उनका कहना है कि दो लोग है जो बराबर जमीन कब्ज़ा करने की नियत से कुछ न कुछ हरकत करते रहते है।

बाउंड्री गिराने के अलावा गैराज का सामान तोड़ा पैसा निकाला।

एजाज के मुताबिक इन भु माफियाओ ने केवल ग़ैराज की बाउंड्री ही नही गिराई बल्कि गैराज में रखा कम्प्यूटर लैपटॉप तोड़ दिया और गल्ले में रखा हज़ारों रुपये लूट लिया जिसकी सूचना उन्होंने तुरंत सौ नम्बर पर की और करेली थाने में लिखित शिकायत दी लेकिन FIR दर्ज नही हुई।

क्या कहना है करेली SO बृजेश सिंह का

इस पूरे मामले में करेली थाने के SO बृजेश सिंह का कहना है कि घटना संही है गैराज की दीवार कुछ अराजक तत्वों ने रात में जेसीबी से गिराई थी जिस पर अज्ञात लोगों के खिलाफ थाने में FIR दर्ज कर ली गई है जांच में सामने आएगा की ये घटना किसने और किस मंशा से की है। और जल्द ही इस पर कार्यवाही की जायेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!