राजस्थान में लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन, विवाह आयोजन पर भी होगा प्रतिबंध

Share this news

कोरोना के बढ़ते कहर को देखते हुए राजस्थान सरकार अब पूर्ण लॉकडाउन लगाने के मूड में है. कोरोना की चिंताजनक स्थिति पर गहन मंथन के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सख्त कदमों पर विचार के लिए 5 सदस्यीय मंत्री समूह का गठन किया है. मंत्रियों की कमेटी आज सुझाव देगी और तत्काल इस पर अमल होगा.

इस कमेटी में नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल, जलदाय मंत्री बीडी कल्ला, चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग शामिल हैं. मंत्री समूह गुरूवार को अपने सुझाव देगा, उसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत फैसला लेंगें.

कैबिनेट की बैठक में सभी मंत्रियों ने सीएम अशोक गहलोत को कहा कि गांवों में तेज़ी से फैल रहे संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए कुछ समय तक विवाह आयोजनों को स्थगित कर दिया जाए, बहुत अधिक आवश्यकता हो तो केवल कोर्ट मैरिज ही की जाए. साथ ही रेड अलर्ट कर्फ्यू की गाइडलाइन को सख्ती से लागू करते हुए आवागमन न्यूनतम किए जाने का सुझाव दिया गया.

एक्टिव केसेज की संख्या के अनुसार राज्य को वर्तमान में 615 मीट्रिक मेडिकल ऑक्सीजन की आवश्यकता है, जबकि उपलब्धता मात्र 351 मीट्रिक टन ही है, अगर संक्रमण की यही रफ्तार रही तो 15 मई तक ऑक्सीजन की आवश्यकता करीब 795 मीट्रिक टन की हो जाएगी. साथ ही ऑक्सीजन के उठाव के लिए प्रदेश में 26 अतिरिक्त टैंकरों की आवश्यकता है.

कैबिनेट में यह भी फ़ैसला हुआ कि राजस्थान के 59 स्थानीय निकायों में 125 करोड़ की लागत से दो महीने में ऑक्सीजन प्लांट बनाए जाएंगे. बैठक में दूसरी लहर के साथ-साथ तीसरी लहर की आशंका पर भी चर्चा हुई. प्रदेशवासियों की जीवन रक्षा के लिए राज्य सरकार को कोविड प्रबंधन के लिए जरूरी संसाधन समय रहते जुटा लेने चाहिए.

 (भाषा इनपुट से)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!