एक्सप्रेसवे के किनारे कंक्रीट की फेंसिंग कराए जाने की योजना बनाएं अधिकारीः नन्दी

Share this news

एक्सप्रेसवे के किनारे कंक्रीट की फेंसिंग कराए जाने की योजना बनाएं अधिकारीः नन्दी

क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति का जीवन है अमूल्य:नन्दी

तार की फेंसिंग ग्रामीणों द्वारा काट लिए जाने से एक्सप्रेसवे पर आ जाते हैं पशु

एक्सप्रेसवे के टॉयलेट की सफाई व्यवस्था और बेहतर बनाने के दिए निर्देश

आधुनिक सुविधाएं वाले एम्बुलेंस लगाने के निर्देश दिए

डिफेंस एक्सपो गुजरात में होगी उत्तर प्रदेश की हिस्सेदारी

उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने मंगलवार को यूपीडा सभागार लखनऊ में उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज इंडिस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी के विभिन्न परियोजनाओं के प्रगति की समीक्षा की। जिसमें मंत्री नन्दी ने अधिकारियों को एक्सप्रेसवेज की यात्रा को और अधिक सुरक्षात्मक एवं सुविधाजनक बनाने के निर्देश दिए।

मंत्री नन्दी ने कहा कि एक्सप्रेसवे पर पशुओं को आने से रोकने के लिए कंटीले तार की फेंसिंग अधिक कारगर नहीं है, इसलिए कंक्रीट की फेंसिंग किए जाने की योजना पर काम किया जाए और इसे अमल में लाने का प्रयास किया जाए। क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति का जीवन अमूल्य है। एक्सप्रेसवे पर उनकी यात्रा को पूरी तरह से सुरक्षित बनाना हमारा कर्तव्य है। बैठक में सीईओ यूपीडा अरविंद कुमार एवं सभी एक्सप्रेसवे के मुख्य महाप्रबंधक मौजूद रहे।

मंत्री नन्दी ने अधिकारियों से पूछा कि एक्सप्रेसवे पर जुलाई महीने तक ओवर स्पीड में कितने चालान हुए, क्या सभी एम्बुलेंस आाधुनिक सुविधाओं से लैस हैं। जिस पर अधिकारी ओवरस्पीड में चालान की संख्या नहीं बता सके। वहीं एम्बुलेंस के बारे में बताया कि कुछ सुविधाएं कम हैं। जिस पर मंत्री नन्दी ने कहा कि पुराने एम्बुलेंस की जगह आधुनिक सुविधाओं वाले एम्बुलेंस को लगाया जाए। कहा कि जो एम्बुलेंस गड़बड़ हैं, उन्हें तत्काल हटाया जाए।
मंत्री नन्दी ने अधिकारियों से पूछा कि एक्सप्रेसवे पर मृत पशुओं को हटाने की व्यवस्था क्या है, कितना काम हुआ। कितना भुगतान हुआ। अधिकारियों ने बताया कि 1.80 लाख रूपए प्रति पैकेज भुगतान होता है। जिस पर मंत्री नन्दी ने कहा कि एक्सप्रेसवे पर जानवर न आएं, इसका परमानेंट समाधान क्या है। अधिकारियों ने बताया कि गांव वाले तार की फेंसिंग काट देते हैं, जिसकी वजह से पशु एक्सप्रेसवे पर चले आते हैं। अधिकारियों ने कहा कि एनएचएआई द्वारा बनाए गए मुम्बई-नागपुर एक्सप्रेसवे पर कंक्रीट की फेंसिंग की गई है। अगर एक्सप्रेसवे पर भी कंक्रीट की फेंसिंग कर दी जाए तो पशु नहीं आ सकेंगें। जिस पर मंत्री नन्दी ने कहा कि यह सुझाव बेहतर है। इस पर काम किया जाए। क्योंकि एक्सप्रेसवे पर यात्रा को सुरक्षात्मक बनाना पहली प्राथमिकता है। पैकेजवार फेंसिंग करने में कितना खर्च आएगा, इसका पूरा आंकलन कर बताएं, जिसके आधार पर निर्णय लिया जा सकेगा। क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति का जीवन अमूल्य है और सभी की यात्रा को सुरक्षित बनाना हमारा कर्तव्य है।

मंत्री नन्दी ने कहा कि आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे पर शौचालय की व्यवस्था ठीक नहीं है। जिस पर अधिकारियों ने कहा कि सफाई व्यवस्था देखने वाली एजेंसी को निर्देशित किया जाएगा। अधिकारियों ने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर आठ में सात पेट्रोल पम्प प्रारम्भ हो गए है। अधिकारियों ने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर 23 जुलाई से टोल शुरू हुआ है। अब तक करीब 23 करोड़ रूपए ही ट्रैफिक से प्राप्त हुए है।

एक्सप्रेसवे पर सड़क हो क्षतिग्रस्त तो लगाई जाए पेनाल्टी
पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर सड़क क्षतिग्रस्त होने की शिकायत पर मंत्री नन्दी ने पूछा कि कार्रवाई हो रही है या नहीं, जिस पर नोडल अधिकारी कनकलता त्रिपाठी ने बताया कि भुगतान में कटौती की जाती है। जिस पर मंत्री नन्दी ने कहा कि केवल कटौती न करें, बल्कि पेनाल्टी भी लगाएं। बताया गया कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेसवे पर चार पैकेज में पेट्रोल पम्प का काम हो रहा है। चारों का लीज रेंट हो गया है। रजिस्ट्री कर दी गई है।

गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण में आएगी तेजी, 97 प्रतिशत जमीन क्रय की गई
अधिकारियों ने बताया कि गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे का 53 प्रशित कार्य पूरा हो चुका है। दिसम्बर 2023 में कार्य पूरा होने की उम्मीद है। मिट्टी के कार्य में कठिनाई आ ही है। अब नवम्बर-दिसम्बर के बाद ही कार्य प्रारम्भ होगा। क्योंकि चार पुल पानी के नीचे हैं। डेढ़ किलोमीटर का पुल है। गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण की प्रगति बताते हुए कहा गया कि 97 प्रतिशत जमीन क्रय कर ली गई है। शेष 12 में से 6 जनपदों में कब्जा मिल गया है। इसका निर्माण करने वाली कम्पनी का चयन कर लिया गया है। तीन हिस्सा का निर्माण अडानी तो एक हिस्सा का निर्माण आईआरबी कम्पनी करेगी।

गुजरात डिफेंस एक्सपो में यूपीडा लगाएगा स्टॉल
बैठक में बताया गया कि 18 से 22 अक्टूबर गुजरात के गांधीनगर में डिफेंस एक्सपो का आयोजन किया जा रहा है। यूपीडा के डिफेंस कॉरिडोर का स्टॉल लगाया गांधीनगर में लगाया जाएगा। जहां यूपी की भी हिस्सेदारी रहेगी। उत्तर प्रदेश डिफेंस कॉरिडोर में बन रहे डिफेंस आर्म्स के स्टॉल लगाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!