कौड़िहार के विकास के लिए बनी समिति को भंग करने की शिफारिश,भ्रष्टाचार का आरोप लगा कर विजय बहादुर ने समिति से दिया इस्तीफा

Share this news

कौड़िहार में विकास के नाम पर जमकर सरकारी धन का दुरुपयोग किया गया है यहां विकास खंड कौड़िहार में जिलाधिकारी की सहमति के बाद 3 क्षेत्र पंचायत सदस्यो की एक समिति बनाई गई थी ताकि ब्लाक प्रमुख के सक्रिय न रहने पर विकास का काम न रुके लेकिन हुआ इसके उल्टा , तीन क्षेत्र पंचायत सदस्यों में से एक विजय बहादुर ने आज DM को इस्तीफा दे दिया जिससे अब DM के आदेश के बाद ये समिति भंग कर दी जाएगी।

विजय बहादुर ने जिलाधिकारी से सुबह ही मिलकर त्यागपत्र दे दिया था जिसके बाद जिलाधिकारी ने ब्लॉक मे कराये गए सभी विकास कार्यो कि उच्च स्तारीय जांच कराने कि बात कही है DM को दिए गए इस्तीफे और दस्तावेज़ में विजय बहादुर (पटेल)ने साफ साफ लिखा है कि कौड़िहार ब्लाक के विकास कार्यो को गति देने के मकसद से पिछले साल 2021 में राकेश कुमार यादव, विजय बहादुर,और सिया लाली को शामिल करके एक समिति बनाई गई थी , जिसमे तीनो सदस्य पिछड़ी जाति के थे । और राकेश कुमार यादव सपाई पर गंभीर आरोप लगाए है की वो लगातार अपने अधिकारों का दुरुपयोग करके सरकार कि मंशा के विपरीत सरकारी फंड का मिस यूज कर रहे थे ।

विजय बहादुर के मुताबिक इस बारे में कई बार उन्होंने चेताया भी लेकिन वो भ्रष्टाचार करने से नही माने , इस वजह से वो समिति को भंग कराना चाहते है और इसीलिए वो इस्तीफा दे रहे है। विजय बहादुर के इस्तीफे के बाद अब जिलाधिकारी कभी भी समिति को भंग करने का आदेश पारित कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!