सुहास एलवाई ने टोक्यो पैरालंपिक की बैडमिंटन स्पर्धा में जीते।

Share this news

प्रयागराज के पूर्व और नोएडा के वर्तमान जिलाधिकारी है सुहास एलवाई

सुहास एलवाई और तरुण ढिल्लों ने गुरुवार को टोक्यो पैरालंपिक की बैडमिंटन स्पर्धा के दूसरे दिन पुरुष एकल एसएल4 वर्ग में अपने अभियान की शुरुआत जीत के साथ की. ग्रुप-ए के एकतरफा मुकाबले में 38 साल के सुहास ने सिर्फ 19 मिनट में जर्मनी के येन निकलास पोट को 21-9 21-3 से हराया.

ग्रुप बी में 27 साल के तरुण को भी अधिक पसीना नहीं बहाना पड़ा और वह थाईलैंड के सिरीपोंग तेमारोम को सिर्फ 23 मिनट में 21-7 21-13 से हराने में सफल रहे. अगले मुकाबले में सुहास का सामना इंडोनेशिया के हैरी सुसांतो से होगा, जबकि तरुण को शुक्रवार को कोरिया के शिन क्युंग ह्वान से भिड़ना है.

सुहास के एक टखने में समस्या है. वह उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी है. उन्होंने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में अहम भूमिका निभाई है.

दूसरी तरफ तरुण को आठ साल की उम्र में फुटबॉल खेलते हुए घुटने में गंभीर चोट लगी थी, जिससे उनके घुटने की मूवमेंट प्रभावित हुई. वह अभी दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी और दो बार के पूर्व विश्व चैम्पियन हैं.

19 साल की पलक को हालांकि एक बार फिर निराशा का सामना करना पड़ा, जब उनकी और पारुल परमार की जोड़ी को एसएल3-एसयू5 वर्ग के ग्रुप बी के महिला युगल मुकाबले में चेंग हेफांग और मा हुईहुई की चीन की दूसरी वरीय जोड़ी के खिलाफ 7-21 5-21 से शिकस्त झेलनी पड़ी.

बुधवार को गत विश्व चैम्पियन और दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी प्रमोद भगत ने पुरुष एकल एसएल3 वर्ग ग्रुप ए के अपने पहले मुकाबले में हमवतन भारतीय मनोज सरकार को हराया था.

पलक को हालांकि महिला एकल एसयू5 ग्रुप ए मुकाबले में जापान की अयाको सुजुकी के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी थी.

मिश्रित युगल में भगत और पलक की जोड़ी को ग्रुप बी के अपने पहले मैच में लुकास माजुर और फॉस्टीन नोएल की फ्रांस की दूसरी वरीय जोड़ी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. यह जोड़ी एसएल3-एसयू5 वर्ग में चुनौती पेश कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
Qtv India

FREE
VIEW