बरसात के मौसम में नाक,कान,गले के मरीजो कि बढ़ जाती है संख्या.

Share this news

प्रयागराज बरसात का मौसम आ गया है। शरीर का तापमान भी मौसम बदलने के साथ ही बदल रहा है। ऊपर से अनियमित खानपान की वजह से तेजी से लोग नाक कान व गले की समस्या से ग्रसित हो रहे हैं। गले की संक्रमण से ग्रसित होकरअस्पतालों में आ रहे हैं।

बरसात का मौसम आ गया है। शरीर का तापमान भी मौसम बदलने के साथ ही बदल रहा है। ऊपर से अनियमित खानपान की वजह से तेजी से लोग नाक, कान, व गले की समस्या से ग्रसित हो रहे हैं। इस मौसम में सबसे ज्यादा लोग थ्रोट इनफेक्शन गले की संक्रमण से ग्रसित होकर विभिन्न अस्पतालों में आ रहे हैं। इस तरह की समय में आपकी अपनी सजगता ही आपको इन रोगों से मुक्ति दिला सकती है।

नाक कान गला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर अजय शुक्ला ने बताते हैं कि ओपीडी में हर दिन काफी शिकायत लेकर आ रहे हैं। बदलते मौसम में यदि आप धुआं, धूल, ठंडी चीजों से परहेज कर लें और नियमित रूप से सुबह शाम गरम पानी भाप लें और सोते समय से नमक पानी का गरारा करें तो आप अनेक बीमारियों से बच सकते है।

मौसम बदलने सहित कई कारण से गले का इन्फेक्शन

मौसम बदलने सहित कई कारण से गले में इंफेक्शन हो जाता है। यह संक्रमण वायरल और बैक्टीरियल दोनों होते हैं। किसी खाद्य पदार्थ से एलर्जी होने पर भी यह संक्रमण हो सकता है। बरसात में है ज्यादा हो रहा है। सर्दी फैलाने वाले वायरस के वजह से भी यह होता है। कभी-कभी तंबाकू अथवा अधिक प्रदूषण वाले इलाके में रहने के बाद गले का संक्रमण होना आम है। कई संक्रमण बरसात में और बढ़ जाते हैं। इसके पीछे बैक्टीरियल कारण होते हैं। जो बैक्टीरिया को गढ़ने में ऐसा मौसम सहायक होता है।

इन बातों का रखें ख्याल

गर्म पानी का प्रयोग करें।
ताजा और गर्म खाना खाएं
शीतल पेय पदार्थ बिल्कुल परहेज करें
बाहर के खाने से परहेज करें
बारिश के पानी में भीगने ने से बचें
बीच-बीच में गर्म और तरल पदार्थ ले
फास्ट और जंक फूड से परहेज करें
सुबह शाम योग अथवा प्राणायाम कर सकते हैं
दूध में हल्दी डालकर सेवन करें।
ज्यादा समस्या होने पर अपने नजदीकी डॉक्टर से जरूर मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
error: Content is protected !!